मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में आयोजित की गई बैठक , कई अहम फैसले पर दी गई मंजूरी

0
15

 

Arvind Kejriwal announced free electricity for those only who wants | Arvind  Kejriwal मुफ्त बिलली पर लगाएंगे लगाम? 1 अक्टूबर से होने वाला है यह काम |  Hindi News, Zee Salaam ख़बरें

दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में आज कैबिनेट मीटिंग की गई. बता दें कि इस मीटिंग में कई अहम फैसलों को मंजूरी दी गई है. एक तरफ जहां दिल्ली सरकार ने अपनी अहम योजना ‘दिल्ली स्टार्ट-अप नीति’ को मंजूरी दी है तो वहीं मुफ्त बिजली पर सब्‍स‍िडी हासिल करने वाले बिजली उपभोक्‍ताओं के लिए भी अहम फैसला लिया है. दरअसल इस फैसले के मुताबिक अगर कोई उपभोक्‍ता बिजली पर सब्स‍िडी छोड़ना चाहता है तो उसको यह ऑप्शन दिया जाएगा. दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल मीटिंग के बाद जानकारी देते हुए बताया कि कैबिनेट ने अहम फैसला लिया है कि हम दिल्ली में बिजली पर फ्री सब्सिडी देते है, हम अब लोगों को ऑप्शन देंगे अगर वो सब्सिडी नहीं देना चाहते है तो उनको सब्सिडी नहीं दी जाएगी.

उन्‍होंने ये भी कहा कि 1 अक्टूबर 2022 से उन्हें ही बिजली मिलेगी जो लोग सब्सिडी मांगेंगे. इसके अलावा कैबिनेट की तरफ से मंजूर की गई दिल्‍ली स्‍टॉर्टअप पोलिसी पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि बच्चों की मदद की जाएगी. बच्चों को किराए की जगह, सैलरी, पेटेंट और दूसरे खर्चों में मदद की जाएगी, साथ ही इनक्यूबेशन सेंटर चालू किए जाएंगे और बिना गारंटी के लोन दिया जाएगा. बकौल केजरीवाल एक चीज देखी ग‌ई है कि स्टार्ट अप का 90% वक्त मंजूरी के कामों में चला जाता है. दिल्ली सरकार ने तय किया है कि हम कुछ एजेंसियों को हायर करेंगे, जोकि इनकी मदद करेगी. सीएम ने समझाते हुए कहा कि मान लीजिए हमने चार्टेड एकाउंटेंट का एक पैनल बनाया तो वो उनकी मदद करेगा, पैसा दिल्ली सरकार देगी. स्टार्ट अप करने वाले युवाओं को सभी मदद फ्री में दी जाएंगी. दिल्ली सरकार जो सामान खरीदती है, उसमें हम इन युवाओं के लिए नियम में ढ़िलाई देंगे. लेकिन सामान की क्वालिटी में समझौता नहीं होगा. अगर कोई स्टूडेंट कॉलेज की पढ़ाई के दौरान कोई प्रोडक्ट बनाता है तो उसे 2 साल तक की छुट्टी भी दी जा सकती है. 20 लोगों की एक टास्क फोर्स बनाई जा रही है.